आख़िरकार छत्तीसगढ़ चुनाव आयोग ने माना कि शिक्षक ईमानदारी और सूझबूझ से कार्य करते हैं........ देखिए रिसर्च में क्या कहा गया है


हाल ही में छत्तीसगढ़ मुख्य चुनाव आयोग के द्वारा किये गए एक रिसर्च से यह बात सामने आयी है कि मतदाता सूचि पुनरीक्षण,जनगणना ,सर्वे करना हो , चुनाव ड्यूटी करना हो या मतगणना कार्य हो जहाँ शिक्षकों की ड्यूटी लगी होती है वहाँ  बहुत कम गलतियाँ होती है। इस रिसर्च में कहा गया है कि शिक्षकों के समझने के तरिके और उनके लिखने की कार्य कुशलता अन्य विभागों के कर्मचारियों की अपेक्षा अधिक होती है इस लिए जहाँ शिक्षकों की ड्यूटी लगी होती है वहाँ गलतियाँ बहुत कम होती है।  


दरअसल हाल ही में सम्पन्न हुए विधासभा चुनाव के दौरान छत्तीसगढ़ मुख्य चुनाव आयोग के द्वारा एक रिसर्च किया गया था उसमे यह बातें सामने आयी है। चुनाव के दौरान चाहे निर्वाचन मशीन (BU ,CU ,VVPET )से किये गए मॉक पोलिंग के बाद CRC की प्रक्रिया हो या पीठासीन की डायरी ,मतपत्र लेखा भरना हो। जहाँ शिक्षकों की ड्यूटी लगी थी वहाँ बहुत कम गलतियाँ पाई गई। 

इस रिसर्च के संबंध में कुछ शिक्षकों से सवाल पूछे जाने पर उन्होंने ख़ुशी जाहिर करते हुए कहा कि आखिरकार किसी ने तो माना कि शिक्षक ईमानदारी और सूझबूझ से कार्य करते हैं। यह सभी शिक्षक समुदाय के लिए गर्व की बात है।उन्होंने छत्तीसगढ़ चुनाव आयोग को इस रिसर्च के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया है।     

Post a comment

0 Comments