मुंगेली ज़िले में 46 से 50 डिग्री सेल्सियस तापमान में ग्रीष्म कालीन समर कैम्प ....जारी हुआ आदेश .......देखिए पूरी खबर विस्तार से


प्रदेश में पिछले कुछ दिनों से पड़ रही भीषण गर्मी के प्रकोप को ध्यान में रखते हुए कुछ जिलों में संबंधित जिला कलेक्टर के आदेश पर जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा शिक्षा सत्र समाप्त होने से पहले ही जिले के सभी शासकीय /अशासकीय/अनुदान प्राप्त शालाओं में तत्काल प्रभाव से अवकाश घोषित कर दिया गया है।

इसके ठीक विपरीत मुंगेली जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा ग्रीष्म कालीन अवकाश में समर कैम्प का आयोजन हेतु आदेश जारी किया गया है। इस आदेश में राज्य परियोजना कार्यालय रा गा शि म रायपुर का पत्र दिनांक 02.04.19 का संदर्भ दिया गया है।

इस आदेश को लेकर अब शिक्षकों में विरोध होना शुरू हो गया। शिक्षक संघ के नेताओं का कहना है कि अन्य जिलों में भीषण गर्मी के प्रकोप को देखते हुए सत्र समाप्ति के पहले ही अवकाश घोषित किया जा रहा है।जबकि मुंगेली जिले में 1 मई से समर कैम्प हेतु शाला संचालित करने के लिए आदेश जारी किया गया है।


इस संबंध में कुछ शिक्षकों से बात करने पर पता चला की समर कैम्प के लिए सुबह 8 बजे से 11 बजे तक शाला लगने का समय निर्धारित किया गया है जो सहीं नहीं है क्योंकि हाई /हायर सेकेंडरी के बच्चे आप पास के गॉवों से आते हैं। समर कैम्प के बाद शाला से वापस घर जाते समय उन्हें भीषण गर्मी का सामना करना पड़ेगा।

समर कैम्प संबंधी जो आदेश प्रसारित हुआ है उसके अनुसार समर कैम्प में शत्प्रतिशत छात्र छात्राओं का उपस्थिति सुनिश्चित करने को कहा गया है यदि कोई पालक इस भीषण गर्मी को देखते हुए अपने बच्चे को शाला भेजना नहीं चाहता या कोई बच्चा स्कूल नहीं आना चाहता तो इसमें शिक्षक क्या कर सकता है।शिक्षक lb न्यूज़ व्हाट्सएप्प ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें 
It



Post a comment

0 Comments