कला संकाय वाले शिक्षकों का दिखा दर्द.......न प्रमोशन न क्रमोन्नति ....... विज्ञान,गणित संकाय वाले कनिष्ट शिक्षक हो गए वरिष्ठ



रायपुर । विज्ञान ,गणित,अंग्रेजी विषय वाले कनिष्ट शिक्षक पदोन्नत होकर हो गए वरिष्ठ ,न पदोन्नति न क्रमोन्नति कहीं हमनें  कला संकाय लेकर कोई गुनाह तो नहीं कर दिए हैं ऐसा कहना है कला संकाय वाले शिक्षकों का। 


असल प्रदेश में कार्यरत शिक्षाकर्मियों के पदोन्नति प्रक्रिया पर लम्बे समय से रोक लगी हुई है। इससे पहले -2016 में शिक्षाकर्मियों का पदोन्नति किया गया था मगर पदोन्नति के लिए जो पद प्रस्तावित हुआ था वह केवल विज्ञान,गणित और अंग्रेजी विषय का था ,ऐसे में कला संकाय वाले देखते ही रह गए। कला संकाय वाले शिक्षकों को क्रमोन्नति भी नहीं दिया गया इसका परिणाम यह हुआ कि जिनका पदोन्नति नहीं हो पाया था  ऐसे शिक्षकों को आज भी निम्न पद का ही वेतन मिल रहा है जबकि  शासन के आदेशनुसार पदोन्नति से वंचित शिक्षक क्रमोन्नति की पात्रता रखते हैं।

कुछ शिक्षकों ने बताया की उनसे कनिष्ट साथी जो विज्ञान ,गणित या अंग्रेजी विषय लिए थे वे पदोन्नत होकर वर्तमान में उच्च पद का वेतन प्राप्त कर रहे हैं जबकि वे वरिष्ठ हैं फिर भी उन्हें कला संकाय के कारण निम्न पद का ही वेतन मिल रहा है शासन के ही आदेशानुसार जिन शिक्षकों का पदोन्नति नहीं हो पाया है उनकों क्रमोन्नति दिया जाना था पर आज तक इस संबंध में कोई कार्यवाही नहीं किया गया।   



इन शिक्षकों का कहना है की नई सरकार बनने से एक बार फिर क्रमोन्नति के लिए आस जगा था पर आज तक इस विषय पर कोई ठोस निर्णय नहीं लिया गया है। लोकसभा निर्वाचन के पहले क्रमोन्नति के संबंध में आदेश जारी किया तो गया था परन्तु लोकसभा निर्वाचन का कार्य सम्पन्न हो चूका है पर इस संबंध में अभी तक कोई सुध लेने वाले नही हैं। पदोन्नति /क्रमोन्नति से वंचित शिक्षकों का कहना है की कहीं हमने कला संकाय लेकर कोई गुनाह तो नहीं कर दिए हैं। इन शिक्षकों में हताशा साफ़ देखा जा सकता है। 

Post a comment

0 Comments