sla संबंधी कार्य समाप्त होने का नाम ही नहीं ले रहा है .........30 मई को रिजल्ट सुनाने के साथ-साथ देनी है प्रिंटेड मार्कशीट



प्रदेश के सभी प्राथमिक/पूर्व माध्यमिक शालाओं में SLA संबंधी कार्य समाप्त होने का नाम ही नहीं ले रहा है। इस सत्र अप्रैल माह के शुरुआत में जैसे ही प्राथमिक तथा उच्च प्राथमिक शालाओं में SLA परीक्षा का कार्य शुरू हुआ था , तब से लेकर अब तक मई माह समाप्त होने को है ,पर राज्य स्तरीय आकलन से संबंधित कार्य बचा ही हुआ है। 



दरअसल प्रदेश के समस्त प्राथमिक /उच्च प्राथमिक शालाओं के सत्र 2018-19 की  वार्षिक परीक्षा प्रणाली में बदलाव करते हुए राज्य स्तर से प्रश्न पत्रों की छपाई कर पुरे प्रदेश में एक ही चरण में परीक्षा का कार्य सम्पन्न कराया गया ,जिसे  SLA का नाम दिया। कहा गया कि यह राज्य स्तरीय बेसलाइन सर्वे है ,जिसके आधार पर पाठ्यक्रमों में आवश्यक सुधार किया जा सकता है ,ताकि लर्निंग आउटकम प्राप्त किया जा सके।    

बताया जाता है कि प्राथमिक /उच्चप्राथमिक परीक्षा के इतिहास में यह अब तक का सबसे लम्बा दिन तक चलने वाला परीक्षा संबंधी कार्य बन गया है,ऐसा इस लिए क्योंकि राज्य स्तरीय आकलन( SLA ) से संबंधित कार्य हाईस्कूल /हायर सेकेंडरी की परीक्षा सिस्टम से भी कठिन  है,क्योंकि प्रत्येक बच्चों के विषयवार प्राप्ताँकों को एक -एक प्रश्न के आधार पर ऑनलाइन एंट्री करना पड़ा है,ऊपर से APP में सर्वर की समस्या। डाटा एंट्री में कहीं कहीं गड़बड़ी भी हुई है,क्योंकि यह शिक्षकों के लिए एकदम नया भी था। 


कुछ शिक्षकों ने बताया कि 30 मई तक बच्चों को रिजल्ट सुनाने के साथ-साथ मार्कशीट का वितरण भी किया जाना है ,परन्तु अब भी बहुत सारा कार्य पूर्ण किया जाना बाकी है।


Post a comment

0 Comments