शैक्षणिक गुणवत्ता की दिशा में एक और फरमान... अध्ययन-अध्यापन कार्य से दूर, अपात्र संकुल समन्वयक मूल शाला हेतु रिलीव; जिला कलेक्टर के निर्देश पर डीईओ मुंगेली ने किया भार मुक्त..



मुंगेली 20.07.19 मामला मुंगेली जिले का है जहां कलेक्टर महोदय ने बड़ी कार्यवाही करते हुए 16 संकुल समन्वयकों को मूल शाला भेजने आदेश जारी किया है। कार्यालय जिला शिक्षा अधिकारी मुंगेली द्वारा दिनांक 19.07.19 जारी आदेश में कहा गया है कि माननीय कलेक्टर जिला मुंगेली द्वारा सूचि में दिए गए संकुल समन्वयकों को संकुल समन्वयक के प्रभार से मुक्त करते हुए मूल शाला में कार्यभार ग्रहण करने आदेशित किया जाता है।



दरअसल मुंगेली जिले के तीनों विकास खंड में अनेक अपात्र संकुल समन्वयकों की नियुक्ति किये जाने की खबर 27 जून 19 को प्रकाशित किया गया था ,जिसमे कहा गया था कि किस प्रकार बिना मापदंड के मनमानीपूर्वक अपात्र शिक्षकों की नियुक्ति संकुल समन्वयक के पद पर कर दिया गया है। 

यहां तक की दूसरे संकुल के शिक्षक को किसी दूसरे संकुल का शैक्षिक समन्वयक बना दिया गया है जबकि  संकुल समन्वयक के पद पर एसएसए के नियम के अनुसार संकुल पद पर उस संकुल के वरिष्ठ उच्च वर्ग शिक्षक /शिक्षक /शिक्षाकर्मी वर्ग 2 को नियुक्त करने का प्रावधान है। 

उक्त संबंध में शिकायत जिला  अधिकारी तथा जिला समन्वयक एपीसी सर्व शिक्षा अभियान के की गई थी  अपात्र के स्थान पर पात्र शिक्षकों को स्कुल समन्वयक बनाने की मांग की गई थी। 



कलेक्टर महोदय के द्वारा उक्त मामले में कार्यवाही करते हुए 16 संकुल समन्यकों को मूल शाला भेजने का आदेश का आदेश जारी किया है। जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि क्रमांक /1594 /एसएसए //स्था./सीएसी /2019-20 माननीय कलेक्टर जिला मुंगेली ,एतद द्वारा संकुल समन्वयक को संकुल समन्वयक के प्रभार से मुक्त करते हुए मूल शाला में कार्यभार ग्रहण करने हेतु आदेशित जाता है। 

Post a comment

0 Comments