कोरोना फाइटर्स को सरकार का ये कैसा इनाम

छत्तीसगढ़ शासन ने प्रदेश के शासकीय कर्मचारियों के वार्षिक वेतनवृद्धि ,स्थानांतरण ,एरियर्स राशि भुगतान पर रोक लगा दी है ,इस संबंध में छत्तीसगढ़ शासन के वित्त विभाग द्वारा आदेश जारी कर दिया गया है। शासन के इस फैसले से नाराज प्रदेश के विभिन्न अधिकारी /कर्मचारी संगठनों ने इसे अनुचित बताया है।


सोशल मिडिया के माध्यम से विभिन्न संगठनों द्वारा सरकार के इस निर्णय का विरोध किया जा रहा है। प्रदेश के लाखों अधिकारी /कर्मचारी दिन-रात कोरोना के रोकथाम में लगे हुए हैं ,कई अधिकारी /कर्मचारी ड्यूटी करते हुए कोरोना से संक्रमित भी हो जा रहे हैं ,इन अधिकारी /कर्मचारियों के मेहनत का ही नतीजा है कि छत्तीसगढ़ में अभी तक किसी भी कोरोना संक्रमित का मौत नहीं हुआ है। 


शासन द्वारा कोरोना के रोकथाम में लगे प्रदेश के लाखों कोरोना फाइटर्स को पुरस्कृत करने के बजाय हतोत्साहित करने में लगा हुआ है ,यह निर्णय कर्मचारियों का मनोबल गिराने वाला है। शासन को अपने इस आदेश को शीघ्र ही वापस लेना चाहिए।जी हाँ ये कहना है प्रदेश के विभिन्न अधिकारी /कर्मचारी संगठनों का। 

बैंक से लोन लेने वाले कर्मचारियों की चिंता बढ़ी -

शासन के इस आदेश से बैंक से लोन लेकर अपने लिए आसियाना बनाने का सपना पूरा करने वाले लाखों अधिकारी /कर्मचारियों को चिंता सताने लगी है ,यदि शासन इस तरिके का प्रतिबंध लगाती है तो वे लोन को कैसे चूका पाएंगे। 

लिपिक संघ ने मुख्यमंत्री राहत कोष में दान के आदेश पर आपत्ति जताई  -

लिपिक संघ ने कोरोना संकट में मुख्यमंत्री राहत कोष में लिपिक संघ द्वारा एक दिन का वेतन कटौती के आदेश का विरोध किया गया है ,प्रांताध्यक्ष के मुताबित बिना सहमति के वेतन कटौती नहीं किया जाना था ,परन्तु बिना सहमति के वेतन कौती की जा चुकी है। लिपिक संघ ने भी शासन के वार्षिक वेतनवृद्धि ,स्थानांतरण आदि रोके जाने के निर्णय का भी विरोध किया है। 

शिक्षक संघ ने कहा सरकार का निर्णय कोरोना फाइटर्स को हतोत्साहित करने वाला -


विभिन्न शिक्षक संगठनों का कहना है कि प्रदेश के लाखों शिक्षक कोरेन्टाइन सेंटर्स में ड्यूटी कर रहे हैं ,जिन्हे बीमा कवर भी नहीं दिया है ,फिर भी विश्वव्यापी संकट में शासन के अन्य विभागों से कंधे से कंधा मिलाकर काम कर रहे हैं ,शासन को चाहिए कि इन कोरोना फाइटर्स को पुरस्कृत करे ,परन्तु सरकार उन्हें पुरस्कृत करने के बजाय हतोत्साहित करने में लगा हुआ है। शिक्षक एलबी न्यूज़ व्हाट्सएप ग्रुप

 

Post a comment

0 Comments