प्रशासनिक आधार पर 494 व्याख्याता /सहायक शिक्षक /प्रधान पाठक /शिक्षक /व्याख्याता (एलबी ) का ट्रांसफर.......एकल शिक्षकीय शाला का नहीं रखा गया ध्यान


एक बार फिर से थोक में शिक्षकों का स्थानांतरण हुआ है , इस स्थानांतरण लिस्ट में उन शिक्षकों का नाम भी शामिल है जो एकल शिक्षकीय शाला में प्रभारी के तौर पर कार्यरत हैं ,लिस्ट में शामिल सभी शिक्षकों का ट्रांफर प्रशासनिक आधार पर किया गया है। 


प्रदेश में नया सरकार बनने के बाद से स्थानांतरण दौर जो शुरू हुआ है वह अब भी जारी है। दिनांक 06.06.2020 को पुनः एक ट्रांफर आदेश जारी किया गया है ,जिसमे पुरे प्रदेश के लगभग 494 व्याख्याता /सहायक शिक्षक /प्रधान पाठक /शिक्षक /व्याख्याता (एलबी ) का नाम शामिल है ,जिनका प्रशसनिक आधार पर स्थानांतरण हुआ है। 

इस स्थानांतरण लिस्ट के जारी होने से ऐसे कई स्कूल है जो शिक्षक विहीन हो गया है ,जिससे एकल शिक्षकीय शाला के संचालन को लेकर सवाल खड़े होने लगे हैं । 


एकल शिक्षकीय शाला के शिक्षक का स्थानांतरण -

प्रशासनिक आधार पर जारी इस स्थानांतरण लिस्ट में उन शिक्षकों का नाम भी शामिल हैं जो अपने शाला में एकल शिक्षक के रूप में कार्यरत हैं तथा संस्था में प्रभारी प्राचार्य का दायित्व निर्वहन कर रहे हैं।  


क्या होगा एकल शिक्षकीय शाला के बच्चों का -

शिक्षा सत्र शुरू ही होने वाला है ,ऐसे में एकल शिक्षकीय शाला के शिक्षक का स्थानांतर हो जाने से उस शाला के बच्चों के पढ़ाई का क्या होगा ? यह विचारणीय प्रश्न है। स्थानांतरण में कम से कम ऐसे शाला के शिक्षकों का ध्यान रखा जाना था जो एकल शिक्षकीय शाला में पदस्थ हैं। 

अधिकांश शालाएं उधार के शिक्षकों के भरोसे -

जी हाँ ,प्रदेश में ऐसे कई हाई /हायर सेकंडरी विद्यालय है ,जहाँ स्टाफ कमी है ,ऐसे शालाओं में पिछले कई सत्र से प्राथमिक /उच्च प्राथमिक शालाओं के शिक्षकों को संलग्न किया गया है ,जिससे उसके मूल शाला के बच्चों के गुणवत्ता पर विपरीत प्रभाव पड़ रहा है। शिक्षक एलबी न्यूज़ व्हाट्सएप्प ग्रुप  


लिया जाता है पाक्षिक टेस्ट -

प्रदेश के सभी हाई /हायर सेकंडरी विद्यालय में 15-15 दिनों में निर्धारित इकाई का टेस्ट लिया जाता है। एकल शिक्षकीय शाला के शिक्षक का स्थानांतरण हो जाने से इन शालाओं में शासन के इस योजना का क्या होगा। 

Post a comment

0 Comments