सत्र 2020-21: स्कूलों में एडमिशन के संबंध में जारी हुआ गाइडलाइन,,,,,,,,इन बिंदुओं को ध्यान में रखते हुए विद्यार्थियों को शाला में एडमिशन देना होगा

सत्र 2020-21, शाला में विद्यार्थियों के नामांकन (प्रवेश ) हेतु छत्तीसगढ़ शासन स्कूल शिक्षा विभाग ,मंत्रालय द्वारा समस्त जिला शिक्षा अधिकारी ,स्कूल शिक्षा विभाग, छत्तीसगढ़ को पत्र जारी किया गया है। स्कूल शिक्षा विभाग मंत्रालय ,नवा रायपुर से दिनांक 30.07.2020 को जारी इस पत्र में विश्वव्यापी महामारी कोरोना को ध्यान में रखते हुए स्कूलों में एडमिशन हेतु गाइडलाइन है।   


 दिनांक 30.07.2020 को जारी पत्र में कहा गया है कि वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के रोकथाम के मद्दे नजर वर्तमान में सभी स्कूल बंद है ,इस कारण स्कूलों में प्रवेश की प्रक्रिया प्रारम्भ नहीं हो पाई है ,विभाग द्वारा स्कूलों पढ़ई तुंहर दुवार योजना के अंतर्गत ऑनलाइन एवं ऑफलाइन मोड़ में अनेक योजनाएं चलाई जा रही है ,जिससे बच्चों को घर बैठे पढ़ने सिखने में मदद मिल सके। 

शासन का मानना है कि कोरोना काल के दौरान पढ़ई तुंहर दुवार तथा इससे जुड़ी योजनाओं के साथ -साथ स्कूल शिक्षा विभाग के अन्य अनेक योजनाओं जैसे -निःशुल्क गणवेश ,निःशुल्क पाठ्यपुस्तक ,मध्यान्ह भोजन ,स्कालरशिप ,निःशुल्क सायकल वितरण का लाभ बच्चों को अच्छे से मिल सके,इसके लिए बच्चों को अगली कक्षा में प्रवेश देना जरूरी है । 

 स्कूल शिक्षा विभाग मंत्रालय द्वारा निःशुल्क गणवेश ,निःशुल्क पाठ्यपुस्तक ,स्कालरशिप के संबंध में पहले ही निर्देश जारी किया जा चूका है ,जिसमें उक्त कार्यों को 15 अगस्त 2020 से पहले सम्पन्न करने को कहा गया है। 

सत्र 2020-21 में विद्यार्थी प्रवेश हेतु गाइड लाइन इस प्रकार है -

कक्षा 11 वीं को छोड़कर अन्य सभी कक्षाओं में प्रवेश का कार्य 15 अगस्त 2020 तक पूर्ण करना होगा। कक्षा 11 वीं के लिए 31 अगस्त तक का समय दिया गया है। कक्षा 1 ली से 12 वीं तक प्रवेश की प्रक्रिया किस प्रकार सम्पन्न किया जाना है ,उसका पूरा विवरण इस प्रकार है।   

प्राथमिक विद्यालय -

जिन विद्यार्थियों का नाम गत वर्ष कक्षा 1 ली से 4 थी में दर्ज था उनका नाम अगली कक्षा 2 री से 5 वीं के रजिस्टर  अंकित कर प्रवेश देना होगा। 

उच्च प्राथमिक -

प्राथमिक विद्यालय के समान उच्च प्राथमिक विद्यालय में गत वर्ष कक्षा 6 वीं में अध्ययनरत विद्यार्थियों को 7 वीं तथा गत वर्ष कक्षा 7 वीं में अध्ययनरत विद्यार्थियों का नाम कक्षा 8 वीं में दर्ज करना होगा। 

प्राथमिक तथा उच्च प्राथमिक-

ऐसे विद्यालय जहाँ प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालय एक साथ संचालित है वहां गत वर्ष जो विद्यार्थी कक्षा 5 वीं में  अध्ययनरत  थे ,उनका नाम कक्षा 6 वीं में दर्ज करना होगा। वे जहाँ केवल प्राथमिक विद्यालय है वहां के प्रधान पाठक गत वर्ष जो विद्यार्थी कक्षा 5 वीं में  अध्ययनरत  थे ,उन्हें ऐसे विद्यालय में प्रवेश दिलाएंगे ,जहाँ 5 वीं पास होने के बाद वहां के विद्यार्थी सामान्य रूप से प्रवेश लेते हैं। 

हाई स्कूल -

ऐसे विद्यालय जहाँ उच्च प्राथमिक और हाई स्कूल  एक साथ संचालित है वहां उच्च प्राथमिक विद्यालय के प्रधान पाठक को गत वर्ष जो विद्यार्थी कक्षा 8 वीं में  अध्ययनरत  थे ,उनका नाम कक्षा 9 वीं में दर्ज करना होगा। कक्षा 9 वीं में गत वर्ष अध्ययनरत विद्यार्थियों का नाम 10 वीं में दर्ज कर प्रवेश देना होगा। ऐसे विद्यालय जहाँ केवल उच्च प्राथमिक विद्यालय है वहां के प्रधान पाठक गत वर्ष जो विद्यार्थी कक्षा 8 वीं में अध्ययनरत  थे ,उन्हें ऐसे विद्यालय में प्रवेश दिलाएंगे ,जहाँ 8 वीं पास होने के बाद वहां के विद्यार्थी सामान्य रूप से प्रवेश लेते हैं। 

हायर सेकेंडरी -

गत वर्ष कक्षा 11 वीं में अध्ययनरत विद्यार्थियों का नाम कक्षा 12 वीं में दर्जकर प्रवेश देना होगा। 

कक्षा 1 ली और 11 वीं  में प्रवेश -
 
कक्षा 1 ली  में प्रवेश -

कक्षा 1 ली में प्रवेश हेतु प्राथमिक विद्यालय के  प्रधान पाठक को अपने विद्यालय क्षेत्र में आपने वाले आंगनबाड़ियों के रजिस्टर से ऐसे बच्चों की सूची बनाएंगे जो 06 वर्ष की आयु पूर्ण कर ली है। उन बच्चों को बिना आवेदन के कक्षा 1में प्रवेश दिया जायेगा। 

कक्षा-11 वीं  में प्रवेश-

कक्षा 11 वीं में प्रवेश के लिए 31 अगस्त 2020 तक का समय दिया गया है ,निर्धारित तिथि के अंदर विद्यार्थी को संबंधित विद्यालय से निःशुल्क प्रवेश फॉर्म प्राप्त कर अपने मन पसंद विषय का चयन कर प्रवेश ले सकेंगे। फॉर्म वितरण एवं जमा के समय कोविड-19 से बचाव संबंधित राज्य शासन के निर्देशों का पालन करना होगा। 

प्रवासी मजदूरों के बच्चों का प्रवेश -

सामान्य बच्चों के सामान प्रवासी मजदूरों के बच्चों को भी उनके ग्राम स्कूल में प्रवेश दिया जाना है ,जिसकी सूची कोरेन्टाइन सेंटर में रखने के तैयार कर ली गई थी। 


इस प्रकार कक्षा 11 वीं को छोड़कर शेष कक्षाओं के लिए प्रवेश 15 अगस्त तक पूर्ण करना होगा ,जिससे कि शासन के योजनाओं -निःशुल्क गणवेश ,निःशुल्क पाठ्यपुस्तक ,मध्यान्ह भोजन ,स्कालरशिप ,निःशुल्क सायकल वितरण का लाभ बच्चों को घर पर ही दिया जा सके। विस्तृत जानकारी के लिए आदेश का pdf यहां देखें 

Post a comment

0 Comments