पढ़ई तुंहर पारा के अंतर्गत कराये जा रहे शिक्षण का वीडियोस /इमेजेस कैसे अपलोड करें,,,,,,,,ऑनलाइन मिलेगा प्रमाण पत्र


हर किसी का दिली ख्वाइश होता है ,वह जो भी काम कर रहा है ,उसे देखा जाय /सराहा जाय ,यदि आप भी स्व -इच्छा से पढ़ई तुंहर दुवार के अंतर्गत मोहल्ला क्लास /लाऊडस्पीकर /मिस्ड कॉल गुरु जी या नवाचारी माध्यम से लॉक डाउन के दिशा -निर्देशों का पालन करते हुए बच्चों को पढ़ा रहे हैं तो आपको इस पोस्ट को ध्यान से जरूर पढ़ना चाहिए। 


शिक्षक को ऐसे ही राष्ट्र निर्माता नहीं कहा जाता। शिक्षक के जैसे कर्तव्यनिष्ठ और नवाचारी आपको शायद ही कहीं देखने को मिले। शिक्षकों का लोहा छत्तीसगढ़ निर्वाचन आयोग भी मान चुका है। छत्तीसगढ़ निर्वाचन आयोग द्वारा निर्वाचन के दौरान कराये गए सर्वे में उन मतदान केंद्रों में नहीं के बराबर खामी पाई गई जहाँ निर्वाचन अधिकारी के रूप में शिक्षकों की ड्यूटी लगाई गई थी। 

वैश्विक महामारी कोरोना काल के दौरान बच्चों को शिक्षा से जोड़े रखने के लिए शिक्षकों द्वारा नए -नए विकल्पों का ईजाद किया जा रहा है ,जिसमे मुहल्ला क्लास ,लाऊडस्पीकर क्लास ,मिस्ड कॉल गुरु जी ,ऑनलाइन क्लास आदि शामिल है। हालाँकि शासन द्वारा मुहल्ला क्लास ,लाऊडस्पीकर क्लास ,मिस्ड कॉल गुरु जी क्लास को स्वैच्छिक कर दिया गया है। 

शिक्षकों का बच्चों के प्रति लगाव कहिये या कर्तव्यनिष्ठा कहिये ,पढ़ाई के वैकल्पिक तरिके मुहल्ला क्लास ,लाऊडस्पीकर क्लास ,मिस्ड कॉल गुरु जी को स्वैच्छिक घोषित करने के बाद भी ज्यादातर शिक्षक बच्चों को पढ़ा रहे हैं। 

शासन द्वारा ऐसे शिक्षकों के प्रयास को प्रोत्साहित करने और उनके द्वारा पढ़ई तुंहर दुवार योजना के अंतर्गत कराये जा रहे गतिविधियों को राज्य स्तर तक पहुंचाने के लिए cgschool.in में अपलोड की सुविधा दी गई है ,इसके अलावा स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा ऐसे शिक्षकों को उनके इस कार्य के लिए प्रमाण पत्र जारी किया जायेगा । 

सबसे पहले cgschool.in में पढ़ई तुंहर पारा के अंतर्गत कराये जा रहे गतिविधि अपलोड की जिला वार संख्या कैसे देखें ? इसके बारे में बताते हैं। 

पढ़ई तुंहर पारा के अंतर्गत अब तक अपलोड को गई गतिविधियों की संख्या कैसे देखें -


1 . सबसे पहले cgschool.in पोर्टल पर जाना होगा ,इसके लिए आपको ब्राउजर में cgschool.in  सर्च करना होगा। 

2.जैसे ही home पेज खुलेगा आपको मेनू पर क्लिक करना होगा ,इसके लिए आपको लॉगिन होने की आवश्यकता नहीं है। 


3. क्लिक करते ही मेनू के अंतर्गत डैशबोर्ड ,निजता नीति ,सिविल सोसाइटी ,खबर ,पाठ्यपुस्तक और पढ़ई तुंहर पारा के अंतर्गत अपलोड गतिविधियां जिला वार का इंटरफेस दिखाई देगा ,आपको इन विकल्पों में से पढ़ई तुंहर पारा के अंतर्गत अपलोड गतिविधियां जिला वार के इंटरफेस पर क्लिक करना होगा। 


4.अब जिला वार इमेज /वीडियो अपलोड की संख्या तथा शिक्षकों की संख्या शो होने लगेगा। आपको अपने जिले के नाम पर क्लिक करना होगा। 

5.इस प्रकार आपके जिले के शिक्षकों की संख्या CRC  ,नाम तथा उनके द्वारा पढ़ई तुंहर पारा के अंतर्गत मुहल्ला क्लास ,लाऊडस्पीकर क्लास ,मिस्ड कॉल गुरु जी क्लास के गतिविधियों की इमेज ,वीडियो की संख्या शो होने लगेगा ,परन्तु आप इन इमेजेस ,वीडियोस को देख नहीं पाएंगे ,सिर्फ संख्या देख पाएंगे। 


पढ़ई तुंहर पारा के अंतर्गत इमेजेस ,वीडियोस कैसे अपलोड करें -

1. पढ़ई तुंहर पारा के अंतर्गत इमेजेस ,वीडियो अपलोड  लिए आपको cgschool.in पोर्टल पर मोबाइल नंबर और पासवर्ड दर्जकर लॉगिन होना होगा। 


2. जैसे ही लॉगिन होंगे ,आपके नाम के ठीक निचे एक इंटरफेस दिखाई देगा ,जिसमे लिखा रहेगा पढ़ई तुंहर पारा के अंतर्गत गतिविधियों की एंट्री ,आपको उस पर क्लिक करना होगा। 


3. अब आपका प्रोफाइल खुल जाएगा ,यदि प्रोफाइल में ईमेल वाला इंटरफेस फिलअप रहेगा तो ठीक है नहीं तो आपको अपना ईमेल दर्ज करना होगा ,क्योंकि प्रमाण पत्र ईमेल पर ही भेजा जाना है।  इस पेज को स्क्रॉल कर निचे ओर आना होगा। 

आपको इमेज ,वीडियो अपलोड करने के लिए पढ़ई तुंहर पारा के अंतर्गत तीन माध्यमों का नाम लिखा मिलेगा -

1. पढ़ई तुंहर पारा
2.  पढ़ई लाउडस्पीकर से 
3. पढ़ई बुल्टू के बोल से 

जो आपके लिए लागू होता है अर्थात आप जिस माध्यम से पढ़ाई कराते हैं उसका इमेज या वीडियो अपलोड करना होगा ,इसके लिए आपको choose file पर क्लिक करना होगा ,जिससे मोबाइल गैलरी या फाइल खुल जाएगा ,आपको  इमेज या वीडियो सलेक्ट कर अपलोड करना होगा ,अंत में सुरक्षित करें पर क्लिक करना होगा। 


ध्यान दें -वीडियो 10 mb  और इमेज 100 kb से ज्यादा साइज का नहीं होना चाहिए ,इससे ज्यादा mb या kb का वीडियोस या इमेजेस अपलोड नहीं होगा।   

मिलेगा का प्रमाण पत्र -

यदि आप भी स्वेच्छा से पढ़ई तुंहर पारा के अंतर्गत मोहल्ला क्लास /लाउडस्पीकर क्लास /मिस्ड कॉल गुरु जी या शाला बंद रहने के दौरान अन्य वैकल्पिक तरिके से बच्चों को पढ़ाई करा रहे हैं तो आपको उक्त का वीडियोस /इमेजेस जरूर अपलोड करना चाहिए क्योंकि इसी आधार पर स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा प्रमाण पत्र दिया जाएगा। 



स्वेच्छा से पढ़ई तुंहर पारा के अंतर्गत पढ़ाई करा रहे शिक्षकों को शेयर जरूर करें ताकि उनक अपने मेहनत /नवाचार का प्रमाण पत्र मिल सके। वीडियोस ,इमेजेस अपलोड में किसी प्रकार की परेशानी होती है तो कमेंट बॉक्स में अपनी समस्या हमें भेज सकते हैं। हम आपके इस समस्या को दूर करने का प्रयास करेंगे। धन्यवाद 

Post a comment

0 Comments