लॉकडाउन के दौरान शाला बंद के कारण पंजी पर हस्ताक्षर नहीं ,,,,,,,,सहायक विकास खंड शिक्षा अधिकारी ने जारी किया स्पष्टीकरण आदेश,,,,,,शिक्षक संघ की कड़ी प्रतिक्रिया


कोरोना महामारी के कारण जहाँ भारत सरकार द्वारा अनलॉक के इस चरण में भी स्कूल /कॉलेज को बंद रखा गया है, वहीं सहायक विकास खंड शिक्षा अधिकारी द्वारा शिक्षिका को लॉकडाउन के दौरान पंजी संधारित नहीं करने और हस्ताक्षर नहीं करने पर स्पष्टीकरण आदेश थमा दिया गया है और 3 दिवस के भीतर स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने का फरमान भी जारी किया गया है । 



मामला जांजगीर जिले के मालखरौदा विकास खंड का है ,जहां सहायक विकास खंड शिक्षा अधिकारी द्वारा मालखरौदा विकास खंड के अंतर्गत आने वाले प्राथमिक शाला भांटापारा कुरदा के प्रभारी प्रधान पाठक श्रीमती पुष्पा दिवाकर को इस बाबत स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने का फरमान जारी किया गया है कि उन्होंने लॉकडाउन के दौरान पंजी संधारित नहीं किया है।

सहायक विकास खंड शिक्षा अधिकारी ,विकास खंड मालखरौदा द्वारा दिनांक 8.9.2020 को शासकीय प्राथमिक शाला भांटापारा कुरदा का निरिक्षण किया गया था  ,जिसमे शाला बंद पाया गया था ,जिससे नाराज सहायक विकास खंड शिक्षा अधिकारी यह भी भूल गए कि लॉकडाउन के कारण शाला बंद था ,ऐसे में कोई पंजी कैसे संधारित कर सकता है । 

लॉकडाउन, पंजी संधारण और हस्ताक्षर -


सहायक विकास खंड शिक्षा अधिकारी द्वारा जारी स्पष्टीकरण आदेश के अनुसार शिक्षिका द्वारा 13.03.2020 से 08.09.2020 तक का पंजी संधारण और हस्ताक्षर नहीं किया गया है। लॉकडाउन के दौरान जब लोगों को घर से बाहर नहीं निकले का सलाह दिया जा रहा था ,कोरोना संक्रमण के रोकथाम के मद्दे नजर स्कूल /कॉलेज बंद कर दिया गया था ,ऐसे में आखिर पंजी संधारण करना और पंजी पर हस्ताक्षर कैसे सम्भव है। 

शासन द्वारा स्कूल संचालन का आदेश नहीं -

छत्तीसगढ़ शासन द्वारा केंद्र सरकर के निर्णय के आधार पर अभी तक स्कूल/कॉलेज का संचालन बंद है। प्रदेश में लगातार बढ़ते कोरोना मामलों के बीच सहायक विकास खंड शिक्षा अधिकारी का स्कूल संचालन नहीं करने पर जारी हुआ स्पष्टीकरण आदेश कहाँ तक उचित हैं। 

शिक्षिका हो रही मानसिक रूप से परेशान -

कोरोना जैसे विसम परिस्थितियों का सामना करते हुए ऑनलाइन /ऑफलाइन क्लास से बच्चों के शैक्षणिक गतिविधियों को जारी रखने के कारण शिक्षकों को स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा 5 सितमंबर को प्रशस्ति पत्र जारी कर सम्मानित किया गया है। शाला संचालन पर लगे प्रतिबंध के बावजूद शाला संचालन नहीं करने पर जारी हुआ स्पष्टीकरण से शिक्षिका को मानसिक रूप से परेशान होना पड़ रहा है। 

शिक्षक संघ की कड़ी प्रतिक्रिया  -

 सहायक खंड विकास द्वारा शिक्षिका को जारी स्पष्टीकरण आदेश पर शिक्षक संघ ने सवाल खड़ा किया है ,शिक्षक  संघ के मुताबिक जब लॉक डाउन के कारण शाला बंद था और वर्तमान में शाला का संचालन शुरू नहीं हुआ है ,ऐसे में पंजी कैसे संधारित किया जा सकता है। 



शिक्षक संघ का कहना है कि सहायक विकास खंड शिक्षा अधिकारी द्वारा शिक्षिका को इस प्रकार से परेशान करना उचित नहीं है। वेतन रोकने जाने और कार्यवाही जैसे का भय दिखाना वो भी जब शिक्षक समुदाय इस विषम परिस्थिति में ऑनलाइन /ऑफलाइन क्लास लेकर बच्चों की पढ़ाई जारी रखे हुए हैं। 

Post a comment

0 Comments