छात्रवृत्ति पोर्टल में सत्र 2020 -21 की छात्रवृत्ति एंट्री में हो रही है तकनीकी समस्या........इधर शिक्षकों को छात्रवृत्ति समय पर पूर्ण करने के निर्देश

छात्रवृति पोर्टल में सत्र 2020 -21 हेतु ऑनलाइन एंट्री का कार्य प्रारम्भ हो चूका है ,कुछ स्कूलों में छात्रवृत्ति की एंट्री का कार्य पूर्ण भी हो चूका है ,परन्तु अधिकांश स्कूल ऐसे हैं ,जहाँ लाख कोशिशों के बाद भी छात्रवृत्ति की ऑनलाइन एंट्री सम्भव नही हो पा रहा है ,ऐसे में शिक्षक छात्रवृत्ति को लेकर काफी परेशान हैं |

प्रदेश में कोरोना संक्रमण के रोकथाम के मद्दे नजर स्कूलों का संचालन शिक्षा सत्र प्रारम्भ होने के 4 -5 माह बाद भी शुरू नही किया जा सका है | शिक्षक जैसे तैसे छात्रवृत्ति 2020-21 के लिए विद्यार्थियों का अकाउंट आदि कलेक्ट किये हैं | पूर्व माध्यमिक /हाई स्कूल /हायर सेकेंडरी स्कूलों के लिए छात्रवृत्ति हेतु डाटा कलेक्ट करना बहुत बड़ी चुनौती रही है |

छात्रवृत्ति हेतु डाटा कलेक्ट करने के बाद अब जैसे ही छात्रवृत्ति की ऑनलाइन एंट्री शुरू किया गया है ,लेकिन छात्रवृत्ति पोर्टल पर कई तरह की समस्या हो रही है |छात्रवृत्ति ऑनलाइन एंट्री के दौरान यदि आपको नीचे दिए गये समस्याओं के अतिरिक्त कुछ अलग तरह के परेशानी का सामना करना पड़ रहा है तो कमेन्ट के माध्यम से हमें साझा जरुर करें |

छात्रवृत्ति 2020-21 की ऑनलाइन एंट्री में हो रही समस्या इस प्रकार है -


विद्यार्थी का format -Aसुधारें /निरस्त करें -

छात्रवृत्ति ऑनलाइन एंट्री के दौरान पंजीयन 2020-21 के अंतर्गत विद्यार्थी का format -Aसुधारें /निरस्त करें वाले भाग में नवीनीकरण हेतु किसी भी विद्यार्थी का नाम प्रदर्शित नही हो रहा है | विद्यार्थी का format -Aसुधारें /निरस्त करें वाले भाग में नवीनीकरण हेतु किसी भी विद्यार्थी का नाम प्रदर्शित नहीं होने से शिक्षक बहुत ज्यादा परेशान हैं |

शिक्षकों का कहना है कि वे अकाउंट वेलिडेशन में असफल विद्यार्थियों का अकाउंट नम्बर में विकास खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय के माध्यम से सुधार करा कर पुनः एप्लीकेशन सेंड टू deo कर चुके हैं ,फिर भी विद्यार्थियों का विद्यार्थी का नाम format -Aसुधारें /निरस्त करें वाले भाग मे प्रदर्शित नही हो रहा है |

छात्रवृत्ति पोर्टल पर सत्र 2019-20 के अकाउंट वेलिडेशन में असफल विद्यार्थियों की सूची में किसी भी विद्यार्थी का नाम भी नही हैं जिससे की पुनः असफल विद्यार्थियों का खाता क्रमांक सुधार कराया जा सके ,यही स्थिति BEO तथा DEO लॉग इन में भी आ रही है |शिक्षकों का कहना है कि सत्र 2019 -20 के सफल भुगतान के पश्चात ही सत्र 2020 -21 का पंजीयन किया जा सकता है ,ऐसे वे अब करें तो क्या करें ?

कुछ शिक्षक जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय तथा विकास खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय का चक्कर लगा थक चुके हैं ,क्योंकि विकास खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय तथा  जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय के लॉग इन में भी विद्यार्थियों के जानकारी सुधार का कोई आप्शन नही है |

विद्यार्थी का डाटा अपडेट न होना -


पिछले एक -दो दिनों से पंजीयन 2020 -21 के अंतर्गत विद्यार्थी का format -Aसुधारें /निरस्त करें भाग में विद्यार्थियों की जानकारी अपडेट करने पर डाटा save नही हो रहा है ,यह एक तरह की नई समस्या है |जिन स्कूलों के login में विद्यार्थी का format -Aसुधारें /निरस्त करें के अंतर्गत विद्यार्थियों का नाम प्रदर्शित हो रहा है ,परतु डाटा अपडेट करने पर save नही हो रहा है |

अकाउंट सुधार कराने के बाद भी विद्यार्थी का नाम प्रदर्शित न होना -

उच्च कार्यालय से account वेलिडेशन में असफल विद्यार्थियों का खाता क्रमांक BEO लॉग इन के माध्यम से सुधार कराने का आदेश जारी हुआ था ,जिसके आधार पर शिक्षक अकाउंट वेलिडेशन में असफल विद्यार्थियों का खाता क्रमांक सुधार करा चुके हैं ,इसके बाद भी विद्यार्थी का नाम पंजीयन 2020-21 के अंतर्गत विद्यार्थी का format -Aसुधारें /निरस्त करें भाग में प्रदर्शित नही हो रहा है |

यदि समय रहते उच्च कार्यालय द्वारा इन समस्याओं पर संज्ञान नही लिया गया तो ,अधिकांश स्कूलों के बच्चे छात्रवृत्ति से वंचित रह जायेंगे | शिक्षकों को समझ में नही आ रहा है कि पंजीयन हेतु विद्यार्थियों का नाम ही प्रदर्शित नही हो रहा है ,ऐसे में तय समय -सीमा में छात्रवृत्ति की ऑनलाइन एंट्री कैसे करें  |

सत्र 2019 -20 का छात्रवृत्ति सुधार BEO/DEO लॉग इन में भी सुधार न होना -


शिक्षक छात्रवृत्ति से जुड़ी समस्या होने पर विकास खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय का चक्कर लगा रहे हैं ,परन्तु BEO लॉग इन में सुधार हेतु कोई डाटा नही शो रहा है ,विकास खंड कार्यालय द्वारा DEO लॉग इन में सुधार की बात कहकर जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय भेजा जा रहा है ,परन्तु जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में भी समस्या का समाधान नहीं हो पा रहा है |

इस प्रकार कई शिक्षक जिला शिक्षा अधिकारी और विकास खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय का चक्कर काट रहे हैं |

बीच की कक्षा में नवीन पंजीयन की समस्या -

यह समस्या अधिकांश ग्रामीण स्कूलों का है ,क्योंकि कई परिवार पलायन कर जाते हैं और दो -तीन वर्ष के बाद  गाँव लौटते हैं ,छात्रवृत्ति पोर्टल में न्यू पंजीयन हेतु कक्षा 1 ,3 और 6 का ही आप्शन दिया गया है ,ऐसे में शिक्षक पलायन से लौटे विद्यार्थियों के छात्रवृत्ति की एंट्री कैसे करें ?

राज्य कार्यालय से जारी आदेश में ऐसे बच्चों के छात्रवृत्ति हेतु राज्य कार्यालय से विशेष अनुमति के बाद ही ऑनलाइन एंट्री कि सुविधा प्रदान करने सम्बन्धी आदेश जारी हुआ था ,परन्तु पोर्टल पर आ रही विभिन्न तकनीकी समस्केयाओं कारण लगता है ऐसे बच्चे छात्रवृत्ति से वंचित रह जाएँ |

छात्रवृत्ति समय पर पूर्ण करने शिक्षकों को निर्देश-


जिला तथा विकास खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय द्वारा छात्रवृत्ति 2020 -21 समय पर पूर्ण करने हेतु शिक्षकों को निर्देश जारी किया जा रहा है ,जिससे शिक्षक खासा परेशान हो रहे हैं |

अब देखने वाली बात यह होगी कि उच्च कार्यालय द्वारा छात्रवृत्ति पोर्टल में हो रही इस समस्या पर कब तक संज्ञान लिया जाता है ,इसके साथ ही छात्रवृत्ति के सम्बन्ध में उच्च कार्यालय का स्पष्ट निर्देश की आवश्यकता भी है ,ताकि छात्रवृत्ति की ऑनलाइन एंट्री में परेशानी न हो |

Post a comment

2 Comments

  1. Dear Sir
    Formet B अपलोड हो गया है, लेकिन formet B
    प्रविष्टि save नहीं हो रहा है।

    ReplyDelete
    Replies
    1. इस भाग के प्रारम्भ में हाँ /नही का ऑप्शन दिया गया उस पर पहले नही या हाँ कर जानकारी प्रविष्ट करें फिर save हो जाएगा

      Delete