प्रैक्टिकल के लिए फरवरी में खुल सकता है स्कूल.......नियमित कक्षा लगने के आसार बहुत कम

विश्वव्यापी कोरोना के कारण बंद शालाओं के पट फरवरी में खुल सकता है , परन्तु यह नियमित कक्षा सञ्चालन के लिए नही होगा , बोर्ड कक्षाओं में प्रैक्टिकल को ध्यान में रखते हुए शाला खोलने का आदेश जारी किया जा सकता है | फ़िलहाल एसा कोई आदेश जारी तो नही हुआ है , परन्तु इस सम्बन्ध में शीघ्र ही आदेश जारी हो सकता है |


वहीँ नियमित कक्षा संचालन का आसार बहुत ही कम है ,ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि नियमित कक्षा का सञ्चालन अगले सत्र से ही शुरू हो सकता है ,परन्तु इसके लिए शासन एक्सपर्ट के राय के आधार पर ही निर्णय लेगी | मुख्यमंत्री जी के विभिन्न सभाओं के दौरान पूछे गये सवालों से इस सम्बन्ध में संकेत मिल चुकी है |

जैसाकि आपको विदित है छत्तीसगढ़ में पहले की तुलना में स्थिति में बदलाव हुआ है , इसके साथ -साथ कोरोना वैक्सीन भी आ चूका है , विभिन्न सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों तक कोरोना वैक्सीन का खेप पहुँच चूका है और ऐसे कई कारण है ,जिसकी वजह से प्रैक्टिकल के लिए फरवरी में शाला खुल सकता है |

इस माह में हो सकती है प्रेक्टिकल -

प्राप्त जानकारी के अनुसार छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल की प्रैक्टिकल परीक्षा 10 फरवरी से 10 मार्च के बीच हो सकती है , परन्तु इसके लिए विद्यार्थियों को एक साथ नही बुलाना है , कोरोना संक्रमण के रोकथाम हेतु जारी गाइडलाइन को ध्यान में रखना होगा |

विद्यार्थियों को प्रैक्टिकल के लिए शाला बुलाये जाने के सम्बन्ध में विस्तृत निर्देश जारी हो सकता है , परन्तु एक बात तो स्पष्ट है कि यदि विद्यार्थियों को प्रैक्टिकल के लिए शाला बुलाने की अनुमति दी जाती है तो पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था रखना जरुरी होगा , सोशल डिस्टेसिंग का पालन करना अनिवार्य होगा |

शिफ्ट में हो सकती है प्रैक्टिकल एग्जाम -

प्रैक्टिकल एग्जाम में सोशल डिस्टेसिंग को ध्यान में रखते हुए बच्चों को शिफ्ट में बुलाया जायेगा , शिक्षाविदों के अनुसार इस बार नियमित शाला सञ्चालन को लेकर अनुमति मिलने की सम्भावना बहुत कम है | इस लिए पहले की तरह नियमित कक्षा सञ्चालन नही होगी ,परन्तु  विषयगत शंकाओं को दूर करने के लिए स्पेशल कक्षाएं लगाने की अनुमति मिल सकती है |

शिक्षा विभाग द्वारा प्रैक्टिकल परीक्षा व प्रैक्टिकल वर्क के लिए तारीख तय कर दी गई है ,परन्तु विद्यार्थियों की उपस्थिति को लेकर विस्तृत दिशानिर्देश जारी नही किया है , यदि शिफ्ट में विद्यार्थियों को प्रैक्टिकल के लिए शाला बुलाया जाता है तो उसका आधार क्या होगा ,यह सब विस्तृत निर्देश जारी होने के बाद ही स्पष्ट हो पायेगा |

एक्सटर्नल नही होंगे इस बार -

छत्तीसगढ़ बोर्ड के कक्षाओं में प्रैक्टिकल एग्जाम व प्रैक्टिकल वर्क की परीक्षा इस बार शाला अपनी सुविधा के अनुसार आयोजित करेंगे , इस बार प्रैक्टिकल के लिए एक्सटर्नल की अनिवार्यता समाप्त कर दी गई है | स्कुल ही अपनी सुविधानुसार परीक्षा आयोजित करेंगे और नम्बर भी देंगे |

शिक्षाविदों का कहना है कि बाह्य निरीक्षक होने से प्रैक्टिकल परीक्षा बाह्य निरीक्षक के सुविधानुसार तय की जाती थी ,कोरोना काल में इससे शालाओं को परेशानी हो सकती है ,इस लिए इस बार एक्सटर्नल को लेकर स्कूलों को इस बार सहत दी गई है |


Post a comment

0 Comments