इस सत्र 9 वीं ,11 वीं में नही होगा जनरल प्रमोशन........विद्यार्थियों को परीक्षा प्रक्रिया से गुजरना होगा |

जी हाँ ! इस सत्र बोर्ड कक्षाओं के साथ -साथ कक्षा 9 वीं एवं 11 वीं के विद्यार्थियों को परीक्षा प्रक्रिया से गुजरना होगा | प्राप्त जानकारी के अनुसार कक्षा 9 वीं एवं 11 वीं के परीक्षा को लेकर जल्द ही गाइडलाइन जारी हो सकता है ,परीक्षा का फार्मूला क्या होगा , कब तक परीक्षा आयोजित किया जाना है , ये अभी तय नही  है |

कोरोना महामारी के कारण शिक्षा सत्र 2019 -20 में छत्तीसगढ़ शासन द्वारा संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए कक्षा 1 से 8 वीं तथा कक्षा 9 वीं एवं 11 वीं के विद्यार्थियों को जनरल प्रमोशन दिया गया था ,जिसके कारण विद्यार्थियों को परीक्षा दिलाना नही पड़ा ,सीधे उन्हें अगली कक्षा में प्रमोट कर दिया गया |

कोरोना संक्रमण के रोकथाम के मद्दे नजर ही सत्र 2020-21 के लिए प्रवेश प्रक्रिया में गाइडलाइन जारी कर पूर्व शाला से प्राप्त सूची के आधार पर विद्यार्थियों को प्रवेश दिलाया गया | कोरोना के कारण विद्यार्थियों को किसी भी स्थिति में भर्ती हेतु शाला नही बुलाने की बात कही गई थी |

कब तक खुलेंगे स्कूल -


छत्तीसगढ़ में कब तक स्कूल खुलेंगे, इस सम्बन्ध में शासन स्तर से कोई स्पष्ट आदेश जारी नही किया गया है  और न ही अभी तक ऐसा कोई संकेत दिया गया है | पूर्व में जारी आदेश में सिर्फ आगामी आदेश तक शाला बंद रहने की बात कही गई है ,अब देखना ये है कि प्रदेश में कब तक स्कूल खुल पाते है | वर्तमान में कोरोना की स्थिति को देखते हुए लगता है कि अभी स्कूल खुलने में और समय लग सकता है |

9 वीं एवं 11 वीं के विद्यार्थियों का परीक्षा -

पिछले साल के अपेक्षा इस साल स्थिति में कुछ सुधार हुआ है ,इस लिए उच्च कार्यालय द्वारा कक्षा 9 वीं एवं 11 वीं की परीक्षा लिए जाने का फैसला लिया गया है ,इससे स्पष्ट है कि कक्षा 9 वीं एवं 11 वीं के विद्यार्थियों को इस सत्र जनरल प्रमोशन नही मिलेगा ,परीक्षा के बाद ही विद्यार्थियों को अगली कक्षा में भेजा जायेगा |

परीक्षा फार्मूला क्या होगा -


परीक्षा का फार्मूला क्या होगा ,इस सम्बन्ध में अभी तक कोई गाइडलाइन जारी नही किया है ,परन्तु जल्द ही परीक्षा के लिए गाइडलाइन जारी हो सकता है | अब देखना यह होगा कि परीक्षा असाइनमेंट के आधार पर लिया जाता है या विद्यार्थियों को ऑफलाइन इम्तेहान दिलाना पड़ेगा , गाइडलाइन जारी होने के बाद ही स्पष्ट हो पायेगा |

इस सम्बन्ध में जिला शिक्षा अधिकारीयों को तैयार रहने को कहा गया है ,शिक्षा विभाग के उच्च अधिकारीयों के अनुसार पुरे सत्र कक्षा 9 वीं एवं 11 वीं की कक्षाएं भले ही न लगाई गई हो ,परन्तु परीक्षा के सम्बन्ध में निर्णय लिया जा चूका है |

बोर्ड परीक्षा के बाद लिया जा सकता है एग्जाम -


उच्च कार्यालय के अनुसार पिछले साल हालात अच्छी नही थी ,परन्तु इस साल स्थिति कुछ बदली है ,इस लिए इस वर्ष कक्षा 9 वीं एवं 11 वीं के विद्यार्थियों को एग्जाम के बाद ही अगली कक्षा में भेजा जायेगा | कक्षा 10 वीं ,12 वीं के परीक्षा के बाद कक्षा 9 वीं एवं 11 वीं की परीक्षा शाला स्तर पर आयोजित करेंगे |

 ऑनलाइन क्लास से हो रही ही पढ़ाई -

कोरोना के संक्रमण को देखते हुए शासन द्वारा पढ़ई तुंहर द्वार योजना शुरू किया गया है ,जिसके मध्य से शिक्षक विद्यार्थियों का ऑनलाइन क्लास ले रहे हैं ,हालाँकि मोबाइल नही होने के कारण कई विद्यार्थी ऑनलाइन क्लास join नही कर पा रहे हैं |

कक्षा 9 वीं एवं 11 वीं के लिए ऑनलाइन लेकिन मूल्यांकन सिस्टम नही -


कक्षा 10 वीं और 12 वीं के साथ -साथ कक्षा 9 वीं एवं 11 वीं का ऑनलाइन क्लास लिया जा रहा है | कक्षा 10 वीं और 12 वीं के विद्यार्थियों का असाइनमेंट के आधार पर मूल्यांकन किया जा रहा है ,परन्तु कक्षा  9 वीं एवं 11 वीं  के लिए विद्यार्थियों के लिए मूल्यांकन सिस्टम नही है ,इस लिए बहुत कम विद्यार्थी ही ऑनलाइन क्लास में जुड़ पा रहे हैं |

Post a comment

0 Comments