शिक्षक एल बी संवर्ग के पुरानी पेशन की मांग लोक शिक्षण संचालनालय ने किया अमान्य

पुरानी पेंशन की मांग कर रहे राज्य के कर्मचारियों को एक बार फिर से निराशा हाथ लगा है | लोक शिक्षण संचालनालय ने पुरानी पेशन की मांग कर रहे एल बी संवर्ग के मांग को ठुकरा दिया है | इस प्रकार एक बार फिर से पुरानी पेशन की मांग को धक्का लगा है |

दरअसल विभिन्न जिलों से 223 व्याख्याता एल बी,शिक्षक एल बी ,सहायक शिक्षक एल बी संवर्ग द्वारा लोक शिक्षण संचालनालय में अभ्यावेदन कर 2004 के पूर्व नियमित नियुक्ति के कारण सामान्य भविष्य निधि एवं पुरानी पेशन योजना का लाभ दिए जाने की मांग की गई है |

लोक शिक्षण संचालनालय द्वारा उक्त अभ्यावेदन को छत्तीसगढ़ शासन स्कूल शिक्षा विभाग मंत्रालय महानदी भवन , नवा रायपुर का आदेश क्रमांक ऍफ़ 12-5/2021 / 20-दो नवा रायपुर अटल नगर दिनांक 16-02-2021 का संगर्भ देते हुए 223 व्याख्याता एल बी,शिक्षक एल बी ,सहायक शिक्षक एल बी संवर्ग का अभ्यावेदन अमान्य कर दिया है |


दिनांक 22/02/2021 को 223 व्याख्याता एल बी,शिक्षक एल बी ,सहायक शिक्षक एल बी का लिस्ट जारी किया है और कहा है कि छत्तीसगढ़ शासन स्कूल शिक्षा विभाग मंत्रालय महानदी भवन , नवा रायपुर का आदेश क्रमांक ऍफ़ 12-5/2021 / 20-दो नवा रायपुर अटल नगर दिनांक 16-02-2021 के तारतम्य में सामान्य भविष्य निधि एवं पुरानी पेशन की मांग अमान्य किया जाता है 

कर्मचारियों के लिए पुरानी पेशन क्यों है जरुरी -

कर्मचारियों की मानें तो नई पेशन स्कीम बाजार आधारित पेशन प्रणाली है , इस योजना के तहत मिलने वाली हित लाभ में अनिश्चितता है | कर्मचारी अपने जीवन भर की काढ़ी कमाई यह सोच कर कटौती कराता है कि रिटायरमेंट के बाद किसी पर आश्रित रहना न पड़े ,परन्तु देश के विभिन्न राज्यों से नई पेशन स्कीम से जुड़ी ख़बरों ने कर्मचारियों की नींद उड़ा दी है |

प्रदेश में नई पेशन स्कीम के तहत 700 -1000 रूपये पेशन -

👉आदेश का pdf यहाँ से डाउनलोड करें 👈

shikshaklbnews में बहुत पहले एक खबर प्रकाशित हुआ था , जिसमें बताया गया था कि कर्मचारी का वेतन 70000 हजार था और nps के तहत पेंशन मिला 700 रूपये ,चूँकि यह खबर उत्तर प्रदेश का था ,इस लिए इस पर किसी का ध्यान नही गया ,परन्तु अब प्रदेश में भी nps का कहर जारी हो चूका है |

शासकीय प्राथमिक शाला बुन्देला ,संकुल केंद्र -सेवार  ,विकास खंड -बिल्हा में पदस्थ श्री गुरु प्रसाद देवांगन जुलाई 2020 में सेवानिवृत हुए हैं ,जिनकों nps के तहत 549 रूपये पेंशन मिलता है  | प्राप्त जानकारी के अनुसार शिक्षक गुरु प्रसाद देवांगन का नियुक्ति जुलाई 2009 में हुआ था ,11 वर्षो के सेवा के बाद जुलाई 2020 में सेवानिवृत्त हुए हैं |

वहीँ इससे पहले विकास खंड बिल्हा में ही पदस्थ शिक्षिका श्रीमती किरण सिंह को 22 वर्षों के सेवा के बाद सेवानिवृत्ति पर 1171 रूपये पेंशन निर्धारित हुआ है |अब शासकीय प्राथमिक शाला बुन्देला ,संकुल केंद्र -सेवार ,विकास खंड -बिल्हा में पदस्थ श्री गुरु प्रसाद देवांगन जी को nps के तहत 549 रूपये पेंशन मिलना है | 

ops संगठनों में app को लेकर तकरार -

एक ओर जहाँ लोक शिक्षण संचालनालय द्वारा 223 व्याख्याता एल बी,शिक्षक एल बी ,सहायक शिक्षक एल बी का सामान्य भविष्य निधि एवं पुरानी पेशन की मांग को अमान्य कर दिया है ,वहीं ops संगठनों में app को लेकर तकरार साफ देखा जा सकता है |

ops संगठन कुटुम्ब app को लेकर प्रतिस्पर्धा में लगे हुए हैं और सभी संगठन अपना -अपना app लांच कर रहे हैं ,वहीँ app इंस्टालेशन को लेकर बकायदा सूचना भी प्रसारित किया जा रहा हैं कि यह अनुख संगठन का app है ,इसे इंस्टाल न करें ,वहीँ दूसरा संगठन यह साबित करने में लगा है कि उनके सन्गठन में सदस्य संख्या दूसरों से अधिक हैं |

क्या आपस में एक दुसरे से प्रतिस्पर्धा करके ops प्राप्त किया जा सकता है , यह तो संगठनों को तय करना है ,परन्तु एक बात तो है स्पष्ट है एक आम कर्मचारी ops संगठनों के गतिविधियों से खुश नहीं है |

join our whatsapp groups -


Post a comment

0 Comments