प्रदेश में जारी है नवीन पेंशन योजना का कहर.......हाल ही सेवानिवृत्त हुआ एक और एलबी संवर्ग

कर्मचारियों के सेवानिवृत्ति के साथ नवीन पेंशन योजना का दुष्परिणाम सामने आने लगे हैं ,जिस योजना को बुढ़ापे का सहारा बताकर लागू किया गया था, वह बढ़ापे की लाठी छिनने का काम कर रही है। प्रदेश में अबतक नवीन पेंशन योजना के तहत शिक्षक एलबी संवर्ग के सेवानिवृत हुए सभी शिक्षकों को पांच सौ, सात सौ , एक हजार दो सौ रुपये ही पेंशन निर्धारित किया गया है ।


सरकार ने सन 2004 में पुरानी पेंशन योजना की जगह शेयर मार्केट आधारित नवीन पेंशन योजना लागू करते हुए बताया था कि इससे कर्मचारियों को लाभ होगा, लेकिन कुछ ही सालों बाद अब इसका भयंकर दुष्परिणाम क्रमशः सामने आना प्रारम्भ हो गया है। 

बीजापुर में एलबी संवर्ग के सेवानिवृत्ति का मामला -

दिनांक 21.03.2021 को कार्यालय संयुक्त संचालक ,लोक शिक्षण बस्तर सम्भाग ,जगदलपुर द्वारा जारी आदेश के अनुसार श्रीमती देवकी यादव ,शिक्षक एलबी ,शासकीय कस्तूरबा गाँधी आवासीय विद्यालय ,बीजापुर को सेवानिवृत्त किया गया है | चूँकि शिक्षिका के लिए फ़िलहाल पेंशन निर्धारित नही हुआ है ,परन्तु अभी तक एलबी संवर्ग के लिए NPS के तहत जो पेंशन निर्धारित हुआ है ,उसके आधार पर अनुमान लगाया जा रहा है कि श्रीमती देवकी यादव को भी 700-800 रूपये या 1000 रूपये से अधिक पेंशन शायद ही मिलेगा |

इससे पहले कबीरधाम जिले के बोडला विकास खंड का मामला -

कबीरधाम जिले के एल.बी. संवर्ग के प्रथम सेवानिवृत्त शासकीय व्याख्याता का पेंशन मात्र 599 रुपये निर्धारित हुआ था, जिले के बोड़ला विकासखण्ड अंतर्गत स्थित शासकीय हाई स्कूल मिनमिनिया मैदान में पदस्थ रही श्रीमती वनमाला खापर्डे की नियुक्ति सन 1999 में शिक्षाकर्मी के रूप में हुआ, जिनका संविलियन एक जुलाई 2018 को स्कूल शिक्षा विभाग में एल.बी. संवर्ग के व्याख्याता के पद पर किया गया था।

शासकीयकरण के बाद जून 2019 में 62 वर्ष की आयु पूर्ण करने पर सेवानिवृत्त किया गया. सेवानिवृत्ति के समय उनकी कुल मासिक वेतन लगभग तिरपन हजार रुपये था, जिनका मासिक पेंशन अब मात्र 599 रुपये निर्धारित हुआ है।

इस प्रकार सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि तिरपन हजार रुपये मासिक वेतन पाने वाले कर्मचारी का जीवन 599 रुपये मासिक से कैसे चलेगा ।

नई पेंशन योजना में शामिल सभी कर्मचारियों जानते हैं कि एक न एक दिन इस दुष्परिणाम का सामना करना पड़ेगा। इसीलिए सेवानिवृत्ति के बाद सुखद व सुरक्षित भविष्य के लिए पुरानी पेंशन बहाली की मांग लगातार किया जा रहा है ।

इस साल छः शिक्षक होंगे सेवानिवृत्त---

वर्तमान वर्ष 2021 में नवीन पेंशन योजना के दायरे में आने वाले कबीरधाम जिले के एल.बी. संवर्ग से छः शासकीय शिक्षक सेवानिवृत्त होंगे, जिसमें धर्मीदास माहिले, नरेंद्र सिंह ठाकुर, हफीजा बेगम, निर्मला ठाकुर, चन्द्र प्रकाश बाटवे एवं रजिंदर कौर खुराना शामिल है ।

प्रदेश में एलबी संवर्ग के अन्य मामले -

इससे पहले बिल्हा विकास खण्ड ,जिला -बिलासपुर में सेवानिवृत्त एलबी संवर्ग के शिक्षिका शिक्षिका किरण सिंह को 22 वर्षों के सेवा के बाद सेवानिवृत्ति पर 1171 रूपये पेंशन निर्धारित हुआ था | उसके बाद विकास खंड बिल्हा के ही शासकीय प्राथमिक शाला बुन्देला ,संकुल केंद्र -सेवार ,विकास खंड -बिल्हा में पदस्थ श्री गुरु प्रसाद देवांगन जी को nps के तहत 549 रूपये पेंशन निर्धारित हुआ था | 

दोनों ही मामला विकास खंड बिल्हा का है ,परन्तु यह पुरे देश में nps धारकों के लिए खतरे की घंटी है ,यदि ops लागु नही हुआ तो सभी nps धारकों का यही हश्र होने वाला है |

जनघोषणा पत्र में पुरानी पेंशन देने का वादा---

प्रदेश कांग्रेस ने विगत विधानसभा चुनाव के पहले जारी जनघोषणा पत्र-2018 में सी.पी.एफ. पर विचार कर 2004 के पूर्व जो पेंशन योजना थी, उसे वापस लागू करने हेतु कार्यवाही करने का वादा किया है । छग शासन स्कूल शिक्षा विभाग ने 16 फरवरी 2021 को जारी आदेश में प्रदेश सरकार के जनघोषणा पत्र में किए गए वादे के विपरीत एल.बी.संवर्ग के शिक्षकों को पुरानी पेंशन नहीं दिए जाने का उल्लेख किया है, जिससे शिक्षक एल.बी.संवर्ग सहित नए पेंशन योजना के दायरे में आने वाले सभी कर्मचारियों में भारी आक्रोश व्याप्त है ।

join our whatsapp groups -



Post a comment

0 Comments