माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा निर्धारित तिथि अनुसार ही ऑफलाइन मोड ही होगी बोर्ड की परीक्षा

बोर्ड परीक्षा 2021 के आयोजन के सम्बन्ध में माध्यमिक शिक्षा मंडल रायपुर द्वारा महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया है | मंडल द्वारा दिनांक 06.04.2021 को उक्त निर्णय के सम्बन्ध में  समस्त कलेक्टर ,छत्तीसगढ़ को पत्र जारी कर दिया गया है | समस्त कलेक्टर को जारी इस पत्र में काई महत्वपूर्ण बातों का उल्लेख किया गया है ।


दरअसल माध्यमिक शिक्षा मंडल रायपुर द्वारा निर्धारित तिथि के अनुसार 15 अप्रैल 2021 से मंडल की परीक्षा प्रारम्भ होने जा रही है ,चूँकि प्रदेश में कोरोना का कहर जारी है ,इस लिए परीक्षा केन्द्रों में सोशल डिस्टेंसिंग ,विद्यार्थियों की उपस्थिति , बैठक व्यवस्था आदि के सम्बन्ध में मंडल द्वारा विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किया गया है |

बोर्ड परीक्षा 2021 के आयोजन में कोरोना संक्रमण के रोकथाम के मद्दे नजर कई महत्वपूर्ण बदलाव किये गये हैं , जैसाकि आपको विदित है प्रदेश में कोरोना के कारण इस सत्र विद्यार्थियों को स्कूलों में ऑफलाइन पढ़ाई करने का मौका नही मिल पाया है , जो भी पढ़ाई हुआ है ऑनलाइन मोड में ही हुआ है | शिक्षकों के साथ -साथ मंडल द्वारा भी ऑनलाइन क्लास के माध्यम से विद्यार्थियों को पढ़ाई कराया गया है |

हालाँकि क्लास की पढ़ाई का मुकाबला ऑनलाइन क्लास नही कर सकता ,ये बात शासन को भी पता है ,परन्तु छात्रों का साल बर्बाद न हो ,इस लिए शासन द्वारा बोर्ड कक्षा का ऑफलाइन परीक्षा लेने का निर्णय लिया गया है | 

कोरोना के कारण शाला पुरे सत्र बंद रहा है , बोर्ड कक्षाओं के प्रायोगिक परीक्षा आयोजन को लेकर शासन द्वारा स्कूल खोलने का निर्णय लिया गया था ,परन्तु प्रायोगिक परीक्षा के दौरान प्रदेश के अलग -अलग जिलों से विद्यार्थियों तथा स्टाफ का कोरोना संक्रमित होने की खबरें आ रही थी | जैसे -तैसे प्रायोगिक परीक्षा सम्पन्न कराया गया |

प्रदेश में कोरोना संक्रमण के रोकथाम के मद्दे नजर बोर्ड कक्षाओं को छोड़ कर शेष सभी कक्षाओं में शासन द्वारा जनरल प्रमोशन देने का निर्णय लिया गया है | बोर्ड कक्षाओं में छात्रों का साल बर्बाद न हो इस लिए शासन द्वारा परीक्षा ऑलाइन आयोजित करने का निर्णय लिया गया है |

परीक्षा तिथि -

माध्यमिक शिक्षा मंडल रायपुर द्वारा निर्धारित तिथि अनुसार कक्षा 10 वीं की बोर्ड परीक्षा  15 अप्रैल 2021 से 1 मई 2021 तथा कक्षा 12 वीं की परीक्षा 3 मई 2021 से 24 मई 2021 तक ऑफलाइन मोड में आयोजित की जाएगी |

बोर्ड परीक्षा आयोजित करने के सम्बन्ध में क्या निर्णय लिया गया है -

 प्रवेश पत्र तथा ड्यूटी आदेश के आधार पर परीक्षा केंद्र आने की अनुमति -

बोर्ड परीक्षा के दौरान छात्रों को प्रवेश पत्र तथा परीक्षा केंद्र के अधिकारीयों -कर्मचारियों  को ड्यूटी आदेश के आधार पर ही परीक्षा केन्द्रों तक आने - जाने की अनुमति होगी | इसका मतलब साफ है किसी भी बाहरी व्यक्ति को परीक्षा केंद्र तक आने की अनुमति नही होगी | 

कोरोना के कारण अनुपस्थित छात्रों को माना जाएगा उत्तीर्ण -

माध्यमिक शिक्षा मंडल रायपुर द्वारा जारी पत्र के अनुसार ऐसे विद्यार्थी जो कोरोना संक्रमण ,लॉकडाउन ,कंटेंटमेंट जोन आदि के कारण किसी विषय या सभी विषयों में अनुपस्थित रहते हैं , उनकी अंकसूची में अनुपस्थित न लिखकर 'C ' लिखा जायेगा तथा उन्हें पास की श्रेणी में रखा जाएगा, उत्तीर्ण माना जायेगा |

कोरोना के कारण अनुपस्थित विद्यार्थियों के लिए विशेष परीक्षा -

'C ' अंकित अंकसूची वाले विद्यार्थियों के लिए पूरक परीक्षा के साथ- साथ विशेष परीक्षा आयोजित की जाएगी और विशेष परीक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर उनकी अंकसूची में 'C ' के स्थान पर प्राप्तांक अंकित कर पुनरीक्षित अंकसूची जारी की जाएगी तथा उन्हें श्रेणी भी दी जाएगी |

उक्त बातों से स्पष्ट है कि कोई भी विद्यार्थी कोरोना के कारण परीक्षा में सम्मिलित नही हो पा रहा है तो उन्हें बाद में भी परीक्षा में सम्मिलित होने का अवसर दिया जायेगा तथा प्राप्तांक के आधार पर श्रेणी भी दी जाएगी |

 मान्यता प्राप्त शालाओं को परीक्षा केंद्र -

माध्यमिक शिक्षा मंडल रायपुर द्वारा जारी पत्र के अनुसार सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए मान्यता प्राप्त शालाओं को परीक्षा केंद्र बनाया गया है | इस प्रकार विद्यार्थी पूर्व सत्रों की भांति मंडल द्वारा पूर्व से निर्धारित परीक्षा केन्द्रों में न जाकर अपने शाला में ही परीक्षा दिलाएंगे |

बैठक व्यवस्था में सोशल डिस्टेंसिंग-

परीक्षा कक्षा में प्रवेश से लेकर छात्रों के बैठक व्यवस्था में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा | कक्षा के क्षमता 50 % तक ही छात्रों को कक्ष में बैठाया जायेगा |

मास्क तथा सेनेटाइज -


छात्र ,शिक्षक तथा शाला के अन्य अधिकारियों - कर्मचारियों के लिए मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है | परीक्षा केन्द्रों को सेनेटाइज करने के साथ -साथ विद्यार्थियों , अधिकारीयों /कर्मचारियों के हाथों को सेनेटाइज करने की व्यवस्था किया जाना है | इसके अलावा कोरोना पीड़ित छात्र को किसी भी परिस्थिति में परीक्षा में नही बैठाना है |

Post a comment

0 Comments