40 दिवस का सूखा राशन वितरण करने निर्देश जारी हुआ

वैश्विक महामारी कोरोना के कारण राज्य शासन द्वारा शालाओं को आगामी आदेश पर्यन्त तक बंद रखने का आदेश जारी किया गया है | शाला बंद अवधि का सूखा राशन वितरण हेतु समय -समय पर शासन द्वारा जारी निर्देशों के आधार पर बच्चों को सुखा राशन वितरण किया जाता है ,इस बार पुनः शासन द्वारा 40 दिवस का सूखा वितरण करने का निर्देश जारी हुआ है |


लोक शिक्षण संचालनालय ,इन्द्रावती भवन ,नवा रायपुर द्वारा दिनांक 08.04.2021 को जारी आदेश के अनुसार 1 मार्च 2021 से 30 अप्रैल 2021 तक कुल 40 दिवस का सूखा राशन वितरण किया जाना है | इससे पूर्व शाला बंद अवधि का 28 फरवरी 2021 तक का सूखा राशन वितरण किया जा चूका है अब 1 मार्च से 30 अप्रैल तक का राशन वितरण किया जाना है | 

लोक शिक्षण संचालनालय द्वारा जारी आदेश के अनुसार मध्यान्ह भोजन योजना नियम 2015 के प्रावधानों के अंतर्गत बच्चों को शाला बंद रहने की अवधि में खाद्य सुरक्षा भत्ता दिया जाना है |भारत सरकार द्वारा निर्धारित मात्रा का सूखा चावल एवं कुकिंग कास्ट की राशि से अन्य आवश्यक खाद्य सामग्री (दाल ,तेल ,सूखी सब्जी इत्यादि  ) वितरित किया जाना है |

राशन वितरण हेतु कुछ महत्वपूर्ण निर्देश -

40 दिवस के लिए सूखा राशन की मात्र -

हम आपके लिए 40 दिवस के लिए निर्धारित सूखा राशन की मात्रा उपलब्ध करा रहे हैं ,जिससे आपको वितरण में आसानी होगी | आप चाहें तो प्रति छात्र मिलने वाली राशन के मात्रा के आधार पर 40 दिवस का प्रति छात्र मात्रा केल्कुलेट भी कर सकते हैं |

प्राथमिक शाला में प्रति छात्र ,प्रति दिन 100 ग्राम चावल ,दाल 20 ग्राम ,तेल 5 ग्राम , आचार  6.25 ग्राम ,सोया बड़ी 10 ग्राम ,नमक 6.25 ग्राम | उच्च प्राथमिक शाला के लिए प्रति छात्र ,प्रति दिन 150 ग्राम चावल ,दाल 30 ग्राम ,तेल 7.5 ग्राम , आचार  10 ग्राम ,सोया बड़ी 15 ग्राम ,नमक 10 ग्राम ,इस प्रकार आप प्रति छात्र के हिसाब से 40 दिवस का सूखा राशन केल्कुलेट कर सकते हैं |



सामग्री की गुणवत्ता -

लोक शिक्षण संचालनालय द्वारा जारी आदेश के अनुसार मध्यान्ह भोजन योजना के अंतर्गत 40 दिन का जो सूखा राशन बच्चों को वितरित किया जाना है , वह उच्च गुणवत्ता की होनी चाहए | इसके अतिरिक्त सामग्री पेकिंग से पूर्व तथा पेकिंग के बाद फोटो ग्राफ्स लेना होगा साथ ही सामग्री के ब्रांड तथा नमूना एक माह तक के लिए सुरक्षित रखना होगा |  


सामग्री पेकिंग -

40 दिवस के लिए निर्धारित सूखा राशन वितरण हेतु सामग्रियों को अलग -अलग पैकेट में सील बंद करना है तथा प्रति छात्र के हिसाब से एक बड़े पैकेट तैयार करना है | 

वितरण की व्यवस्था -

सूखा राशन वितरण के सम्बन्ध में जो निर्देश जारी हुआ है ,उसके अनुसार राशन वितरण स्कूल में या घर -घर पहुंचाकर किया जा सकता है |वितरण के दौरान बच्चों /पालकों के बीच सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना अनिवार्य होगा |

वितरण की पूरी प्रक्रिया के दौरान मास्क का उपयोग अनिवार्य रूप से करने का निर्देश दिया गया है |

जिला शिक्षा अधिकारी को जिम्मेदारी
    
40 दिवस के लिए निर्धारित सूखा राशन वितरण की पूरी जिम्मेदारी लोक शिक्षण संचालनालय द्वारा जिला शिक्षा अधिकारी को दिया गया है | जिला शिक्षा अधिकारी जिले के अंतर्गत सभी विकास खंडों में सूखा राशन वितरण सुनिश्चित कराएंगे तथा कृत कार्यवाही के सम्बन्ध में  कार्यालय लोक शिक्षण संचलनालय को अवगत करायेंगे 

Post a comment

0 Comments