अगले सत्र से होगी नियमित पढ़ाई.......आगामी 10 दिनों में आवश्यक तैयारी कर राज्य कार्यालय को करना होगा सूचित

कोरोना के कारण सबसे ज्यादा नुकसान अगर किसी का हुआ है तो वो है बच्चों का | प्रदेश में सभी स्कूल बच्चों के लिए लगभग पुरे सत्र बंद रहा , हालाँकि ऑनलाइन /ऑफलाइन मोड में पढ़ाई जारी रखा गया | प्रदेश में कोरोना के दूसरी लहर के कारण शासन द्वारा पहले तो बोर्ड परीक्षा को छोड़कर शेष सभी कक्षाओं में जनरल प्रमोशन दिए जाने का आदेश जारी हुआ , बाद में कक्षा 10 वीं की बोर्ड परीक्षा भी रद्द करना पड़ा तथा आन्तरिक मूल्यांकन के आधार पर परिणाम जारी किया गया |

प्रदेश में कोरोना महामारी पूरी तरीके से खत्म नही हुआ है | आगामी कुछ महीनों में कोरोना की तीसरी लहर की बात सामने आ रही है ,इस लिए शासन बच्चों की पढ़ाई को ध्यान में रखते हुए अभी से तैयारी शुरू कर दी है | राज्य परियोजना कार्यालय समग्र शिक्षा ,छत्तीसगढ़ द्वारा दिनांक 01/06/2021 को समस्त जिला शिक्षा अधिकारी ,छत्तीसगढ़ को पत्र जारी कर वर्चुअल स्कूलों के माध्यम नियमित अध्यापन हेतु आवश्यक तैयारी कर 10 दिवस सूचित करने का निर्देश दिया गया है |

राज्य परियोजना कार्यालय समग्र शिक्षा ,छत्तीसगढ़ द्वारा दिनांक 01/06/2021 को जारी आदेश के अनुसार विभिन्न राज्यों में शिक्षकों ने अपने उन विद्यार्थियों जिनके पास मोबाइल एवं इन्टरनेट सुविध है को व्हाट्सएप ग्रुप में कक्षावार जोड़कर उनके नियमित सीखने की व्यवस्था की हुई है | हमारे राज्य में भी आगामी सत्र से वर्चुअल स्कूलों के माध्यम से नियमित अध्यापन की व्यवस्था की जा रही है |

 छः बिंदुओं के आधार पर करनी होगी, आवश्यक कार्यवाही -

1. हाई एवं हायर सेकेंडरी स्तर के सभी शिक्षकों को एक टेलीग्राम ग्रुप में शामिल करना होगा |यदि किसी जिले में इस स्तर के टेलीग्राम ग्रुप पहले बना हुआ है तो उसी ग्रुप में सभी शिक्षकों ,व्याख्याताओं तथा प्राचार्यों को एक ही ग्रुप में जोड़ना होगा |  जिले के सभी शिक्षकों ,व्याख्याताओं तथा प्राचार्यों को एक ही ग्रुप में जोड़ने हेतु जिले के एडीपीओ को जिम्मेदारी देने की बात कही गई है |

2. सभी जिलों के कक्षा 1 से 8 तक पढ़ाने वाले शिक्षकों के लिए एक अलग टेलीग्राम ग्रुप बनाया गया है ,इसी ग्रुप में इस स्तर के शत प्रतिशत शिक्षकों ,प्रधान पाठकों एवं संकुल समन्वयकों को जोड़ना होगा ,इसके लिए जिला मिशन समन्वयकों की जिम्मेदारी देने की बात कही गई है |

3. लेतेग्राम ग्रुप में एकरूपता रखने हेतु ग्रुप के नाम को विशेष पैटर्न में परिवर्तित करना होगा | district name+ level (elementry/secondary)+ samagra shiksha grup 

4 .राज्य परियोजना कार्यालय समग्र शिक्षा ,छत्तीसगढ़ के अनुसार भविष्य में इन ग्रुप के मध्यम से ही विभागीय समस्त आकादमिक जानकारियां उपलब्ध कराया जायेगा | इन ग्रुप को सक्रिय रखने के लिए विभिन्न प्रोफेशनल लर्निंग कम्युनिटी ,शाला संकुल प्राचार्यों को जिम्मेदारी देने को कहा गया है  साथ ही गैर शिक्षकीय एवं राजनैतिक पोस्ट नही डाले जाने को कहा गया है |

5. इसके अगले चरण में सभी शिक्षकों को अपनी कक्षावार ऐसे विद्यार्थियों का जिनके पास मोबाइल है ,उनका व्हाट्स एप ग्रुप बनाकर उनके सिखने में सक्रिय सहयोग देना होगा ,इसके लिए शिक्षकों को निर्देशित करने को कहा गया है |

सत्र प्रारम्भ होने पर कक्षावार व्हाट्स एप ग्रुप की जानकारी लिया जायेगा तथा उसका उपयोग राज्य में प्रस्तावित वर्चुअल स्कूल योजना में जिला जायेगा |

6. उक्त कार्य की प्रगति की जानकारी आदेश में उपलब्ध कराए गये ,प्रपत्र में आगामी 10 दिनों में राज्य परियोजना कार्यालय समग्र शिक्षा ,छत्तीसगढ़ को सूचित करना होगा |

👉आदेश का पीडीऍफ़ डाउनलोड करें 👈

जून 2021 से  आगामी शिक्षा सत्र शुरू होने जा रहा है ,कोरोना महामारी की स्थिति को देखते हुए शासन शिक्षा सत्र के शुरुआत से ही वर्चुअल स्कूल के माध्यम से नियमित अध्यापन की व्यवस्था करना चाहती है ,ताकि तय समय सीमा अनुसार बच्चों का पाठ्यक्रम पूरा किया जा सके |

Post a Comment

2 Comments

  1. क्या #छ_ग_14580शिक्षक_भर्ती_2019 के चयनित अभ्यर्थी इस लायक नही है कि
    सरकार द्वारा संचालित शिक्षण पद्धति में अपनी सेवा दे सके
    ढाई साल से नियुक्ति की राह जोह रहे हैं

    ReplyDelete