5 सितम्बर शिक्षक दिवस के अवसर पर शिक्षकों को मिल सकती है बड़ी सौगात

SHIKSHAKLBNEWS रायपुर -5 सितंबर शिक्षक दिवस के अवसर पर शिक्षकों को बड़ी सौगात मिल सकती है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शिक्षकों को लम्बित महंगाई भत्ता ,वेतन विसंगति सहित अन्य मांगों पर सौगात देते हुए मुख्यमंत्री द्वारा घोषणा किया जा सकता है।

ज्ञात हो कि केंद्र सरकार तथा कई राज्यों द्वारा कर्मचारियों को महंगाई भत्ते का तोहफा दिए जाने के बाद से प्रदेश में भी कर्मचारी संगठनों द्वारा लगातार 28% महंगाई भत्ता जारी करने की मांग की जा रही है। प्रदेश के कर्मचारी संगठनों को उम्मीद था, कि मुख्यमंत्री जी द्वारा स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर 28% महंगाई भत्ता दिए जाने की घोषणा की जा सकती है, परंतु ऐसा नहीं हुआ।

इसे भी पढ़ें - छात्रवृत्ति 2021-22 लिए जारी हुआ विस्तृत दिशा निर्देश 

वहीं वेतन विसंगति पर शिक्षा मंत्री के आश्वासन से सहायक शिक्षकों को उम्मीद था, कि शीघ्र ही  वेतन विसंगति की समस्या दूर होगी , परंतु अभी तक इस विषय पर सरकार द्वारा कोई निर्णय नहीं लिया गया है। इन दोनों ही मुद्दे पर  शिक्षक दिवस के अवसर पर सरकार द्वारा घोषणा की जा सकती है |

 शिक्षकों के लिए इस बार खास हो सकता है  शिक्षक दिवस-

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार प्रदेश में नई सरकार बनने के बाद से शिक्षकों के लिए अभी तक कोई बड़ी घोषणा नहीं हुई है , इसलिए ऐसा कयास लगाया जा रहा है, कि इस बार शिक्षक दिवस पर शिक्षकों को कोई बड़ी सौगात मिल सकती है। जिसमें लम्बित 16% महंगाई भत्ता और सहायक शिक्षकों के वेतन विसंगति का मुद्दा प्रमुख रूप से शामिल हो सकते हैं ।

इसे भी पढ़ें- प्राथमिक शिक्षकों के लिए निष्ठा 3.0 के लिए पंजीयन 1 सितम्बर से 

3 सितंबर को स्कूलों में लटकेंगे ताले -

प्रदेश में लंबित महंगाई भत्ते का मामला गर्माता ही जा रहा है। राज्य सरकार द्वारा लम्बित महंगाई भत्ता जारी नहीं करने से नाराज अधिकारी -कर्मचारी अलग-अलग संगठनों के तत्वाधान में 3 सितंबर को राजधानी रायपुर में जोरदार धरना प्रदर्शन करने वाले हैं।  जिसमें शिक्षा विभाग से भी समस्त अधिकारी कर्मचारी शामिल होने वाले हैं , जिससे स्कूलों में ताला लटक सकता है।

इसे भी पढ़ें - पुरानी पेंशन के समर्थन में विधायक ने ठुकराया अपना पेंशन 

 5 सितंबर को सहायक शिक्षकों का प्रदर्शन-

वेतन विसंगति के मुद्दे पर एक बार फिर से सहायक शिक्षक राजधानी रायपुर में इकट्ठा होने वाले हैं।  जिसमें प्रदेश के अलग-अलग जिलों से एक लाख से अधिक सहायक शिक्षक राजधानी रायपुर में पदयात्रा रैली तथा मुख्यमंत्री निवास के घेराव में सम्मिलित होंगे। 

ज्ञात हो कि सहायक शिक्षकों के प्रमुख मांग वेतन विसंगति पर शिक्षा मंत्री के आश्वासन के बाद धरना प्रदर्शन स्थगित कर दिया गया था, परंतु लंबे समय तक मांगों पर कोई विचार नहीं होने से एक बार फिर से सहायक शिक्षक आंदोलन  मूड बना रहे हैं, इसके लिए राजधानी रायपुर में एक दिवसीय धरना का कार्यक्रम रखा गया है , जिसके बाद आगे की रणनीति विचार किया जायेगा |

इसे भी पढ़ें- कर्मचारियों को रिटायरमेंट की उम्र में वृद्धि तथा पेंशन के सम्बन्ध में शीघ्र ही मिल सकती है खुशखबरी 

कर्मचारी संगठनों ने ये कहा -

कर्मचारी संगठनों ने कहा है ,कि जन घोषणा पत्र में उल्लेखित पदोन्नति/क्रमोन्नति, वेतन विसंगति, पुरानी पेंशन बहाली की वादों को सरकार को शीघ्र पूरा करना चाहिए , क्योंकि सरकार बनने के बाद से लेकर अब तक कर्मचारियों के लिए किए गए किसी भी बड़े वादे को पूरा नहीं किया गया है।

join our whatsapp groups:-




Post a Comment

0 Comments