यदि इस तिथि तक इनकम टैक्स रिटर्न फाइल नहीं किये तो देना पड़ सकता है 10 हजार तक का जुर्माना

shikshaklbnews-वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की अंतिम तिथि को कुछ ही दिन शेष है, यदि निर्धारित तिथि के अंदर  इनकम टैक्स रिटर्न फाइल नहीं कर पाते हैं तो उन्हें 10 हजार तक का पेनाल्टी देना पड़ सकता है। देश में वैश्विक महामारी कोरोना के कारण पहले भी इनकम टैक्स फाइल करने की तिथि में दो से तीन बार तक वृद्धि की जा चुकी है।

वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की अंतिम तिथि 31 दिसंबर 2021 निर्धारित की गई है। इसलिए सभी टैक्स पेयर को उक्त तिथि के अंदर अपना इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करना होगा।

टैक्स एक्सपर्ट के अनुसार-

टैक्स एक्सपर्ट के मुताबिक समय रहते आइटीआर फाइल करने से आइटीआर फाइल करने में देरी होने से लगने वाली पेनाल्टी से बचाव के साथ और कई फायदे हो सकते हैं। करदाताओं को पेनाल्टी के साथ-साथ जुर्माना भी पड़ सकता है साथ ही कई तरह की इनकम टैक्स छूट भी नहीं मिल पाती है।

10 हजार तक का भारी जुर्माना चुकाना पड़ सकता है-

एक्सपर्ट की मानें तो यदि करदाता समय पर इनकम टैक्स रिटर्न फाइल नहीं करते हैं तो उन्हें ₹10000 तक का भारी जुर्माना चुकाना पड़ सकता है, इसके साथ ही समय पर आरटीआई दाखिल नहीं करने पर आयकर विभाग से नोटिस मिल सकता है। आयकर नियमों के अनुसार यदि किसी करदाता ने एडवांस टैक्स नहीं चुकाया है अपनी देनदारी के 90% से कम चुकाया है तुझसे सेक्शन 234b बी के तहत एक प्रति प्रति माह का ब्याज पेनाल्टी के रूप में चुकाना पड़ेगा।

निर्धारित तिथि से पहले आयकर रिटर्न फाइल नहीं करने पर इस छूट से हो जाएंगे वंचित-

करदाताओं को इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने में मिलने वाली छूट जैसे धारा 10 ए और धारा 10 बी के तहत मिलने वाली छूट, धारा 80 आइ ए, 80 आई बी ,80 आई सी ,80आई डी और 80 आई ई के तहत मिलने वाली छूट भी नहीं मिलती है।

join our whatsapp groups -


Post a Comment

0 Comments